ब्रह्मदेव मंदिर दक्षिण भारत

पुराण कथाओ से हम यही सुनते आये है की ब्रह्मा देव का मंदिर केवल पुष्कर में ही है । पर यह कहना गलत होगा अगम शास्त्रो के अनुसार, हर शिव मंदिर में ब्रह्मा मंदिर होना आवश्यक है । ये मंदिर की वास्तुशैली निर्धारित करती है । दक्षिण भारत, मूलतः तमिल नाडु में अक्सर ये ेदेखा जाता आया है । सकल मंदिरो में से दो मंदिर उभर कर आते है -

१) ब्रह्मा मंदिर - तिरुपत्तुर, त्रिची

चेन्नई से त्रिची की यात्रा के बीच समयपुरम से पहले यह स्थान पड़ता है । कहा जाता है की ब्रम्हदेव भाग्य बदल सकते है । यह मंदिर संत पतंजलि और व्यक्रपथ की भी जीव समाधी स्थल है । इस मंदिर की और विशेषतायें तथा चित्र इत्यादि इस कड़ी पर मिल सकते है :

Brahma Temple Entrance Dakshin Bharat TN

Brahma Temple Entrance Dakshin Bharat TN

Brahma mandir Temple Dakshin Bharat TN

Brahma Mandir Temple Dakshin Bharat TN

Brahma Temple Dwajastambam Dakshin Bharat TN

Brahma Temple Dwajastambam Dakshin Bharat TN

Brahma Temple Gopuram Tamil nadu

Brahma Temple Gopuram Tamil nadu

http://aalayamkanden.blogspot.in/2010/10/brahmapureeswarar-temple-tirupattur.html

२) ब्रम्हशिरकंदीश्वरर और हरषाप विमोचन पेरुमल मंदिर:

यह दोनों मंदिर एक दूसरे के बिलकुल आमने सामने है । यह मंदिर तिरुकंदियुर जो की तंजावूर -कुम्बकोनम रस्ते पर, थिरुवायुर के पास पड़ते है । विशेष बात यह है की ये मंदिर ब्रह्मा, विष्णु और महेश तीनो ही का क्षेत्र है । ब्रह्मा यहाँ अपनी सहचरी सरस्वती के साथ विराजमान हैं । स्थानीय भक्तगण मूलतः बच्चे यहाँ वंदना करने आते है । महादेव शिव यहाँ ब्रम्हशिरकंदीश्वरर के नाम से जाने जाते है । भगवान विष्णु यहाँ हरषाप विमोचन पेरुमल के नाम से जाने जाते है। वैष्णव लोगो के १०८ धार्मिक स्थलों में से यह एक है । माना जाता है की यहाँ देवगण ब्रह्महत्या दोष (ब्राह्मण, गुरु या संत की हत्या का पाप) से मुक्त करते है । भक्त यहाँ तीनो ही देवो से वरदान मांगने आते है ।

Address

  • ब्रह्मदेव मंदिर दक्षिण भारत
    Kandiyur

    Kandiyur, Tamil Nadu - 613202

Most Read Articles